भारत का पहला जिलास्तरीय न्यूज र्पोटल

EDITOR-IN-CHIEF- Sanjeev Pahwa

सपा ने जिले के गन्ना व गेंहू किसानो की समस्याओं को लेकर DM को ज्ञापन सौंपा


लखीमपुर खीरी।समाजवादी पार्टी के पूर्व जिलाध्यक्ष अनुराग पटेल के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधीमण्डल ने जिले के गन्ना व गेंहू किसानो की समस्यों के परिपेक्ष्य में एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा। प्रतिनिधीमण्डल में राज्यसभा सांसद रवि प्रकाश वर्मा, एम0एल0सी शशांक यादव, पूर्व मंत्री यशपाल चौधरी, पूर्व MLC धीरेन्द्र बहादुर सिंह, निवर्तमान जिलाध्यक्ष मो0 कय्यूम खां, पूर्व विधायक विनय तिवारी, पूर्व विधायक सुनील लाला, पूर्व विधायक उत्कर्ष वर्मा, पूर्व उपाध्यक्ष क्रान्ति कुमार सिंह, जिला कार्यकारिणी सदस्य मंगू लाल लोधी शामिल रहें। 
      समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव रवि प्रकाश वर्मा ने कहाकि इस समय लाकडाउन के चलते जहां प्रदेश का गरीब-मजदूर परेशान है वही किसान को उसकी फसल का मूल्य भी नहीं मिल रहा, गेहूं किसान औने पौने दामों पर गेहूं बेचने को मजबूर है गन्ना किसान अपनी बेची फसल का पैसा पाने को मिल मालिकों की ओर देख रहे हैं।लॉकडाउन के चलते हरी सब्जी पैदा करने वाले किसानों ने तो किसी तरह से अपने खेत खाली किए हैं उन्हें उनकी लागत का पैसा भी नहीं मिला।
      पूर्व मंत्री यशपाल चैधरी ने कहाकि हमारे जनपद खीरी में किसानों को सुनियोजित तरीके से परेशान किया जा रहा है जहां गन्ना किसान अपने गन्ने के भुगतान के लिए परेशान है वहीं गेहूं किसान अपने गेहूं को औने पौने दाम पर बेचने को मजबूर है क्योंकि जनपद खीरी में सरकारी गेहूं क्रय केंद्रों पर किसानों से 4 किलो से लेकर 5 किलो प्रति कुंतल गेहूं की कटौती करके भुगतान किया जा रहा है किसान अपनी पूरी बात भी नहीं कह सकता क्योंकि पूरे जनपद में बिचैलियों के माध्यम से गेहूं की खरीद पूरी की जा रही है 
     समाजवादी पार्टी के पूर्व जिला अध्यक्ष अनुराग पटेल ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन में कहाकि समाजवादी पार्टी मांग करती है कि गन्ना किसानों के भुगतान के लिए मिल मालिकों के ऊपर दबाव बनाकर किसानों को उनका बकाया पैसा दिलाने का काम हो, जनपद खीरी में संचालित सभी गेहूं खरीद केंद्रों की जांच कराई जाए तथा सभी किसानों के बयान लिए जाएं कि उनसे गेहूं खरीदते समय कितने किलो की अवैध कटौती की गई है इसके साथ ही उन किसानों की भी जांच कराई जाए जिन्होंने गेहूं तो बोया ही नहीं था लेकिन बिचैलिए द्वारा खरीदे गए गेहूं का भुगतान उन्हीं किसानों के नाम से किया गया है, साथ ही छोटे किसानों को सरकार मदद करें जिन्होंने हरी सब्जी बोने का काम किया लेकिन लॉकडाउन के चलते हैं उनको लागत भी नहीं निकाल सके, पशुपालक व्यवसाय से जुड़े किसानों को भी लॉकडाउन के चलते उन्हें उनकी कीमत नहीं मिली सरकार उन्हें भी आर्थिक मदद प्रदान करें इसके साथ ही समाजवादी पार्टी मांग करती है कि 15 दिनों में किसानों की मदद की जाए, जनपद में गेहूं खरीद में हुए भ्रष्टाचार की जांच हो दोषी क्रय केंद्र संचालकों व अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाए, गन्ने का बकाया भुगतान कराया जाए अन्यथा 15 दिन बाद पार्टी के लोग लॉक डाउन का पालन करते हुए धरना प्रदर्शन करेंगे। सपा पूर्व जिलाध्यक्ष अनुराग पटेल ने आगे कहाकि देश में मजदूरो किसानों, गरीब मेहनतकशों तथा देश की अर्थव्यवस्था पर विपक्ष कोई प्रश्न न उठा सके इसलियें पूरे देश और प्रदेश में सरकार ने अघोषित राजनैतिक आपातकाल लगा रखा है। 
    समाजवादी पार्टी के प्रतिनिधी मण्डल ने जिलाधिकारी से जिले के अन्दर यूरिया की हो रही किल्लत खत्म करने की मांग की और साथ ही ये कहाकि यूरिया का ये संकट व्यापारियों के द्वारा प्रायोजित संकट है जिससे यूरिया को ऊंचे दामो पर कालाबाजारी की जा सकें।



Latest Video